रविवार, 21 मार्च 2010

विंडोज विस्टार हेतु हिन्दी इंडिक आईएमई


इण्डिक आई.एम.. 2 _32-बिट  की कार्यप्रणाली

  राजभाषा विभाग, भारत सरकार द्वारा राजभाषा हिन्‍दी को सर्वव्‍यापी बनाने तथा युनिकोड में हिन्‍दी टंकण को प्रोत्‍साहित करने हेतु समय-समय पर परिपत्र आदि परिचालित किए जाते हैं। वस्‍तुत: युनिकोड स्‍क्रीप्‍ट में ही हिन्‍दी भाषा की प्रगति संभव है क्‍योंकि युनिकोड में टंकित पाठ्यसामग्री को देखने अथवा पढ़ने के लिए कम्‍प्‍यूटर पर अलग से हिन्‍दी फॉन्‍ट इन्‍स्‍टाल करने की आवश्‍यकता नहीं होती है । युनिकोड में टंकित पाठ्यसामग्री को वेबसाइट पर अपलोड करना तथा पढ़ पाना संभव हो पाता है। वर्तमान में युनिकोड फॉन्‍ट तो डिफाल्‍ट फॉन्‍ट के रूप में माइक्रोसाफ्ट कम्‍पनी द्वारा निर्मित माइक्रोसाफ्ट 2000 तथा उसके बाद के संस्‍करण वाले सॉफ्टवेयरों में विद्यमान रहता है। इस अंक में विंडोज विस्‍टा कम्‍प्‍यूटर को युनिकोड एनेबल्‍ड करने हेतु इण्डिक आई.एम.. 2 _32-बिट के इन्‍स्टालेशन की जानकारी प्रस्‍तुत है।  
 
सिस्‍टम की आवश्‍यकताएं
विन्‍डोज विस्‍टा
सर्विस पैक 1
इन्‍स्‍टालेशन
इण्डिक आई.एम.. टूल का इन्‍स्‍टालेशन :
इण्डिक आई.एम.. 2 _32-बिट को अनजिप कर अनजिप हुए फाइल में विद्यमान हिन्‍दी 'सेटअप. .एक्‍स.. (setup.zip)' को रन कर दें। तदुपरान्‍त सिस्‍टम को रिबूट कर दें।  ऐसा करते ही आपके कम्‍प्‍यूटर पर हिन्‍दी इण्डिक इण्डिक आई.एम.. 2 _32-बिट इन्‍स्‍टाल हो जाएगा।  
 विंडोज विस्‍टा में हिन्‍दी सपोर्ट इनेबल करना: अपने कम्‍प्‍यूटर के क्रमश: र्स्‍टाट एवं प्रोग्राम मेन्‍यू से होते हुए कन्‍ट्रोल पैनल' में जाऍं। वहॉं 'रिजनल एण्‍ड लैंग्‍वेज ऑप्‍शन' को सक्रिय करते हुए 'की-बोर्ड एण्‍ड लैंग्‍वेज' टैब को क्लिक कर 'चेंज की-बोर्ड' प्रेस बटन को माउस द्वारा क्लिक करें  । 
तदुपरान्‍त स्‍क्रीन पर उभरे 'टेक्‍सट सर्विस एण्‍ड इनपूट लैंग्‍वेजेस' डायलग बॉक्‍स में विद्यमान के '.के.' प्रेस बटन को दबाएं। 
इण्डिक आई.एम.. की-बोर्ड जोड़ना:  ऐसा करते ही 'टेक्‍स्‍ट सर्विस एण्‍ड इनपूट लैंग्‍वेज सर्विस डायलॉग बॉक्‍स' प्रदर्शित हो जाएगा जिसमें आपके सिस्‍टम में विद्यमान विविध की-बोर्ड तथा उन्‍हें जोड़ने और हटाने हेतु 'ऐड''रिमूव' प्रेस बटन दिखाई देंगे।  'ऐड' बटन को माउस द्वारा प्रेस कर 'इन्‍स्‍टाल्‍ड सर्विस' के अन्‍तर्गत प्रदर्शित विविध 'की-बोर्ड ले-आउट' में 'हिन्‍दी इंडिक इनपूट 2 की-बोर्ड ले-आउट' को चुन कर 'अप्‍लाय''.के.' बटन को क्लिक करें। ऐसा होते ही हिन्‍दी आई.एम.. की-बोर्ड आपके कम्‍प्‍यूटर से जुड़ जाएगा।
 
भाषा परिवर्तन हेतु कुँजी सैट करना: उपरोक् डायलॉग बॉक् में विद्यमान 'लैंग्‍वेज बार' टैब को सक्रिय आवश्यकता एवं रूचि अनुसार अंग्रेजी से हिन्दी तथा हिन्दी से अंग्रेजी में भाषा परिवर्तन हेतु कुँजियों को नए सिरे से सैट किया जा सकता है। सामान्यत: भाषा परिवर्तन के लिए ALT+SHIFT को डिफाल् सेटिंग् के रूप में रखा गया है। भाषा परिवर्तन संबंधी कुँजी सेट करने के उपरान् .के. प्रेस बटन को क्लिक कर दें।
इस क्रिया के अन्‍तर्गत क्रमश: फ्लोटिंग ऑन डेस्‍कटॉप अनुदेश के आगे बने रेडियों बटन तथा शो टेक्‍स्‍ट लेबल्‍स ऑन दी लैंग्‍वेज बार चेक बॉक्‍स को माउस द्वारा अवश्‍य सिलेक्‍ट कर 'अप्‍लाय' तथा 'ओ.के.' प्रेस बटन प्रेस करें इससे टंकण के समय उपयोगकर्ता की सहायता हेतु डेस्‍कटॉंप पर फ्लोटिंग की-बोर्ड उपलब्‍ध रहता है।
 
इसी प्रकार उपयोगकर्ता 'एडवान्‍सड की सेटिंग' टैब को सक्रिय कर उपनी रूचि के अनुसार 'डिफॉल्‍ट इनपूट लैंग्‍वेज' और 'इनपूअ लैंग्‍वेज' हेतु की-सेट कर सकता है।
अब उपयोगकर्ता इस टूल के साथ वर्ड पैड, नोटपैड, एम.एस.वर्ड, एक्सेल, इन्टरनेट, पावर पाइन्, आउटलूक, फ्रन् पेज, इन्टरनेट एक्सप्लोरर, गुगल टॉक आदि किसी भी विंडोज एप्लिकेशन में कार्य सुगमता से करने में सक्षम हो पाएगा।
ALT+SHIFT कुंजी को दबाने के साथ ही कम्‍प्‍यूटर स्‍क्रीन की दाँए ओर ऊपर में एक टास्‍कबार बना मिलेगा जिसमें भाषा परिवर्तन, की-बोर्ड ले-आउट चयन, आटो टैक्‍स्‍ट सहायता तथा शब्‍द सूची आदि विकल्‍प उपयोगकर्ता के त्‍वरित संदर्भ हेतु मिलेंगे। इस टूल से कुल 09 की-बोर्ड ले-आउट में टंकण किया जा सकता है।
इंडिक आई.एम.ई. का प्रयोग कैसे करें:-
इंडिक आई.एम.ई. इन्‍स्‍टाल करने के उपरान्‍त एम.एस.वर्ड,वर्ड पैड अथवा नोट पैड कोई भी आफिस एप्पिलिकेशन ओपन करें।
  1. ALT+SHIFT कुंजी को एक साथ दबाएं तथा की बोर्ड आइकन में से वांछित की-बोर्ड सिलेक्‍ट कर लें। साथ ही ऑटो टैक्‍स्‍ट ऑन तथा ऑन-दफ्लाय हेल्‍प ऑन करें। यहॉं हम लोग हिन्‍दी ट्रान्‍स्‍लीट्रेशन कीबोर्ड का उदाहरण दे रहे हैं। जिसमें अंग्रेजी उच्‍चारण अनुसार हिन्‍दी टंकण होता है। 
  2. अब हिन्‍दी उच्‍चारण अनुसार अंग्रेजी के कुंजी को दबाएं । ऐसा करते ही वर्ण विशेष से संबंधित समस्‍त मात्रा युक्‍त एक सहायक पटल स्‍क्रीन पर उभर आएगा जिसकी सहायता से आप हिन्‍दी में टंकण कर सकते हैं। यहॉं उदाहरण के लिए अंग्रेजी वर्ण S टाइप करने पर हिन्‍दी भाषा में उच्‍चारण के आधार पर प्रयुक्‍त समस्‍त मात्रायुक्‍त स वर्ण के विकल्‍प सहायता पटल पर उभर आए हैं। कृपया नोट कर लें कि ऐसे शब्‍दों जो अंग्रेजी भाषा के वावेल अर्थात AEIOU वर्ण से आरम्‍भ होते हैं को टाइप करते समय अलग से स्‍वर लगाने की आवश्‍यकता नहीं होती हैं। उदाहरण के लिए 'में' लिखने के लिए अंग्रेजी के m+a+e कुँजी दबाने की आवश्‍यकता नहीं होगी। इसके लिए अंग्रेजी के m+e वर्ण कुँजी को टाइप करने से ही मे शब्‍द टाइप हो जाएगा क्‍योंकि अंग्रेजी का e वर्ण स्‍वयं ही स्‍वर अर्थात वावेल है। इस की-बोर्ड ले आउट में अंग्रेजी भाषा के वावेल अर्थात AEIOU का बड़ा महत्‍व है।
 
नोट
हिन्‍दी टंकण हेतु इण्डिक आई.एम.. 2 _32-बिट युनिकोड एप्पिलिकेशन को bhashaindia.com की बेबसाइट से नि:शुल्‍क डाउनलोड कर उपयोग में लाया जा सकता है। 
समस्‍या एवं समाधान
प्रश्‍न:  मैं अंग्रेजी में नहीं टाइप कर पा रहा हूँ ?   
उत्‍तर: हिन्‍दी से अंग्रेजी में टंकण कार्य करने हेतु की-बोर्ड के बाँयी ओर विद्यमान ALT+SHIFT कुंजी को एक साथ दबाएं। ऐसा करते ही हिन्‍दी इंडिक आई.एम.ई. निष्‍क्रीय हो जाएगा तथा अब आप अंग्रेजी में कार्य कर सकेंगे।

 




3 टिप्‍पणियां:

  1. आभार जानकारी का.

    --

    हिन्दी में विशिष्ट लेखन का आपका योगदान सराहनीय है. आपको साधुवाद!!

    लेखन के साथ साथ प्रतिभा प्रोत्साहन हेतु टिप्पणी करना आपका कर्तव्य है एवं भाषा के प्रचार प्रसार हेतु अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें. यह एक निवेदन मात्र है.

    अनेक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत अच्छी प्रस्तुति। सादर अभिवादन।

    उत्तर देंहटाएं

आप अपने सुझाव और मूल्यांकन से हमारा मार्गदर्शन करें