बुधवार, 4 अगस्त 2010

नागार्जुन की कविताएं

बाबा नागार्जुन
30 जून 1911 - 5 नवंबर, 1998


जन्म :: 30 जून 1911 को जन्म : ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन गाँव सतलखामधुबनीबिहार।
मृत्यु :: 5 नवंबर, 1998, दरभंगाबिहार
स्थान :: दरभंगाबिहार
शिक्षा :: परंपरागत प्राचीन पद्धति से संस्कृत की शिक्षा।
वृत्ति :: कविलेखक
कृतियां ::कविता-संग्रह - अपने खेत मेंयुगधारासतरंगे पंखों वालीतालाब की मछलियांखिचड़ी विपल्व देखा हमनेहजार-हजार बाहों वालीपुरानी जूतियों का कोरसतुमने कहा थाआखिर ऐसा क्या कह दिया मैंनेइस गुब्बारे की छाया मेंओम मंत्रभूल जाओ पुराने सपनेरत्नगर्भभूमिजामैं मिलिट्री का बूढ़ा घोड़ा।
उपन्यासरतिनाथ की चाचीबलचनमाबाबा बटेसरनाथनयी पौधवरुण के बेटेदुखमोचनउग्रताराकुंभीपाकपारोआसमान में चाँद तारे।
व्यंग्यअभिनंदन
निबंध संग्रहअन्न हीनम क्रियानाम
बाल साहित्य - कथा मंजरी भाग-१कथा मंजरी भाग-२मर्यादा पुरुषोत्तमविद्यापति की कहानियाँ
मैथिली रचनाएँपत्रहीन नग्न गाछ (कविता-संग्रह)हीरक जयंती (उपन्यास)।
बांग्ला रचनाएँ- मैं मिलिट्री का पुराना घोड़ा (हिन्दी अनुवाद)
ऐसा क्या कह दिया मैंनेनागार्जुन रचना संचयन
पुरस्कार/सम्मान :: साहित्य अकादमी द्वारा सम्मानित कवि नागार्जुन को १९६५ में साहित्य अकादमी पुरस्कार से उनके ऐतिहासिक मैथिली रचनापत्रहीन नग्न गाछ के लिए १९६९ में नवाजा गया था।

कविताओं के लिंक

1 टिप्पणी:

आप अपने सुझाव और मूल्यांकन से हमारा मार्गदर्शन करें