शुक्रवार, 5 नवंबर 2010

एक ऐसा ही दीप जलाओ!




परमार्थ में जीवन को ही मिटा दे,
दीप सा दधीचि दूसरा हुआ कहाँ?
वह तो जल कर भस्म हुआ है,
हर मन में अभी उजाला कहाँ?

दीपक बन मैं भी जल जाऊं ,
गर कलुषित मन धुल जाएँ,
तड़प सुनें सूने मन-आँगन की,
 जिससे दिल उनके हिल जाएँ।

कितने घरों में बिखरा अँधेरा,
कल ही दीपक बुझा है घर का,
किसी का कुछ न बिगाड़ा  था,
बस चैन खोजने चला था घर का।

अब तो मनुज बन जाओ सब,
जलने दो बाती इन सब दीपों में,
बूढी आँखों का नूर बचाओ,
बच्चों की मुस्कान बचाओ |

इस दीवाली में सब हर घर में ,
एक सद्भावना का दीप जलाओ,
सुख-शान्ति की हो कामना जिसमें ,
विश्व शान्ति की अलख जलाओ।

हर घर आँगन रोशन हो जगमग,
मन में भी सबके उल्लास भरा हो,
वह दीप एक हो या दीपमाला हो,
बस रोशन घर का हर आला हो।

अब की सब ऐसी दीवाली मनाओ
खुशहाल घर के हर मन को बनाओ!

20 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया!


    सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
    दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
    खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
    दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

    -समीर लाल 'समीर'

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपको और आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामाएं

    उत्तर देंहटाएं
  3. अब तो मनुज बन जाओ सब,
    जलने दो बाती इन सब दीपों में,
    बूढी आँखों का नूर बचाओ,
    बच्चों की मुस्कान बचाओ |
    काफी सुंदर तरीके से अपनी भावनाओं को अभिवयक्त किया है ...दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुन्दर रचना और आह्वान
    दीवाली की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत अच्छा संदेश देती कविता... लयात्मकता की कमी के बावजूद भी रचना सुपाठ्य है और कथ्य सोचने पर विवश करता है!!

    उत्तर देंहटाएं
  6. आज दीपावली है। प्रकाश पर्व। अज्ञान के अंधकार को हरने, उसे ज्ञान से प्रकाशित करने तथा रिद्धि -सिद्धि, सुख, सम्पत्ति से जीवन को आप्लावित करने की कामना का त्यौहार।

    ईश्वर से कामना है कि यह दीपोत्सव आपके जीवन में सभी मनोकामनाएं पूर्ण करे।

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपको और आपके परिवार के सभी सदस्यों को दीपावली पर्व की ढेरों मंगलकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  8. दीपक न सिर्फ़ अपने आसपास प्रकाश फैलाता है, बल्कि दूसरे दीपक को भी प्रकाशित करने में सहायक होता है।

    जोत से जोत जगाते चलो प्रेम की गंगा बहाते चलो!

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहुत अच्छी प्रस्तुति।
    चिरागों से चिरागों में रोशनी भर दो,
    हरेक के जीवन में हंसी-ख़ुशी भर दो।
    अबके दीवाली पर हो रौशन जहां सारा
    प्रेम-सद्भाव से सबकी ज़िन्दगी भर दो॥
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई!
    सादर,
    मनोज कुमार

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुन्दर रचना
    दीवाली की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  11. सुन्दर सन्देश देती रचना ...शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  12. दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनाएं...

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत सुन्दर संदेश देती उम्दा रचना।
    दीप पर्व की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत ही सुंदर अभिव्यक्ति......दीपावली के शुभ अवसर पर आपको सपरिवार हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  15. आपको सपरिवार दिपोत्सव की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  16. आपको और आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामाएं

    उत्तर देंहटाएं
  17. सह-अस्तित्व में ही मानवता का सार है।

    उत्तर देंहटाएं
  18. दीपावली की असीम-अनन्त शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  19. दीपावली का ये पावन त्‍यौहार,
    जीवन में लाए खुशियां अपार।
    लक्ष्‍मी जी विराजें आपके द्वार,
    शुभकामनाएं हमारी करें स्‍वीकार।।

    उत्तर देंहटाएं

आप अपने सुझाव और मूल्यांकन से हमारा मार्गदर्शन करें