बुधवार, 26 जनवरी 2011

इक्कीसवीं शती के ग्यारहवें गणतंत्र दिवस पर

इक्कीसवीं शती के

ग्यारहवें गणतंत्र दिवस पर

परशुराम राय

देश की संसद की

गंगोत्री से निकली

लोकहित

की भागीरथी

किसकी जटा में खो गयी ?

 

या कि कोई जह्नु आकर

राह में ही पी गया

और लोकहित

स्वार्थ की वैतरणी बहा

कोई भगीरथ छल गया ?

 

माना कि नवनिर्माण में

धीरज भी कोई चीज है

पर पचासा पार कर

यह बुजदिली का

राग बनकर रह गया।

 

इक्कीसवीं शती के

ग्यारहवें गणतंत्र दिवस पर

हे भारत के भाग्य विधाता

देश के हित

एक गंगा और दे दो

स्वतंत्रता की भैरवी को

एक राग और दे दो।

14 टिप्‍पणियां:

  1. गणतंत्र दिवस पर हार्दिक शुभकामनाएं और उत्तम चर्चा के लिए बधाई |

    उत्तर देंहटाएं
  2. गणतंत्र दिवस पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं ....

    उत्तर देंहटाएं
  3. बेहतरीन प्रस्तुति। आपको गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  4. आप सभी को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (27/1/2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।
    http://charchamanch.uchcharan.com

    गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाइयाँ !!

    उत्तर देंहटाएं
  6. सच अब तो यह राग बुजदिली का ही बन गया है ...बहुत सुन्दर प्रस्तुति

    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  7. बेहतरीन रचना..
    गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं
  8. rajbhasha hindi ke madhayam se sabhi pathako ko mere taraf se republic day ki badhayi swikar ho.

    उत्तर देंहटाएं
  9. गणतंत्र के समक्ष चुनौतियों को सुन्दरता से उठाया गया है कविता में..

    उत्तर देंहटाएं
  10. चुनौतिया तो हैं मगर
    गणतन्त्र दिवस की 62वीं वर्षगाँठ पर
    आपको बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  11. स्वतंत्रता की भैरवी को

    एक राग और दे दो।
    bahut sunder soch hai.

    उत्तर देंहटाएं
  12. बेहतरीन रचना.

    गणतंत्र दिवस पर हार्दिक बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  13. मनोज जी | यह आपकी यह सुन्दर पोस्ट आज भी चर्चामंच पर है.. चूँकि मैंने सबसे ऊपर की कुछ रचनाएँ परसों ही ले ली थीं....आप चर्चा मंच में आ कर अपने विचार प्रकट करें..

    उत्तर देंहटाएं

आप अपने सुझाव और मूल्यांकन से हमारा मार्गदर्शन करें