गुरुवार, 29 मार्च 2012

दोहावली .... भाग - 5 / संत कबीर


जन्म  --- 1398
निधन ---  1518
बाजीगर का बांदरा, ऐसा जीव मन के साथ ।
नाना नाच दिखाय कर, राखे अपने साथ ॥ 41 ॥
अटकी भाल शरीर में तीर रहा है टूट ।
चुम्बक बिना निकले नहीं कोटि पटन को फ़ूट ॥ 42 ॥
कबीरा जपना काठ की, क्या दिख्लावे मोय ।
ह्रदय नाम न जपेगा, यह जपनी क्या होय ॥ 43 ॥
पतिवृता मैली, काली कुचल कुरूप ।
पतिवृता के रूप पर, वारो कोटि सरूप ॥ 44 ॥

बैध मुआ रोगी मुआ, मुआ सकल संसार ।
एक कबीरा ना मुआ, जेहि के राम अधार ॥ 45 ॥
हर चाले तो मानव, बेहद चले सो साध ।
हद बेहद दोनों तजे, ताको भता अगाध ॥ 46 ॥
राम रहे बन भीतरे गुरु की पूजा ना आस ।
रहे कबीर पाखण्ड सब, झूठे सदा निराश ॥ 47 ॥
जाके जिव्या बन्धन नहीं, ह्र्दय में नहीं साँच ।
वाके संग न लागिये, खाले वटिया काँच ॥ 48 ॥
तीरथ गये ते एक फल, सन्त मिले फल चार ।
सत्गुरु मिले अनेक फल, कहें कबीर विचार ॥ 49 ॥
सुमरण से मन लाइए, जैसे पानी बिन मीन ।
प्राण तजे बिन बिछड़े, सन्त कबीर कह दीन ॥ 50 ॥
 
क्रमश:
दोहवाली --- भाग –1 / भाग – 2 /भाग – 3 /भाग - 4

11 टिप्‍पणियां:

  1. सार्थक,सारगर्भित प्रयास ...!
    आभार .संगीता जी .

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर दोहों का संकलन!..आभार!

    उत्तर देंहटाएं
  3. तीरथ गये ते एक फल, सन्त मिले फल चार ।
    सत्गुरु मिले अनेक फल, कहें कबीर विचार ॥ bahut accha....

    उत्तर देंहटाएं
  4. जाके जिव्या बन्धन नहीं, ह्र्दय में नहीं साँच ।
    वाके संग न लागिये, खाले वटिया काँच ॥
    कितना सार्थक सन्देश.

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह हर एक दोहे में छुपी जीवन की सार्थकता ऐसी अच्छी पोस्ट यहाँ पढ़वाने के लिए आभार....

    उत्तर देंहटाएं
  6. कबीर जी के तो हर दोहे मे ज्ञान और सत्य का समावेश है………हार्दिक आभार इन दोहों को पढवाने के लिये।

    उत्तर देंहटाएं
  7. अच्छा लगा. आपका ब्लॉग यहाँ जोड़ा गया है कृपया देखें http://rupaantar.blogspot.in/

    उत्तर देंहटाएं
  8. तीरथ गये ते एक फल, सन्त मिले फल चार ।
    सत्गुरु मिले अनेक फल, कहें कबीर विचार ॥

    संग्रहणीय पोस्ट । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. ek ek dohe ka bahut mahatva hi samjhmein aa jaye to jeevan safal ho jayega . RAMESH LALWANI 1048-23 KAMLA BAORI GANJ AJMER
      09414005962 01452623542,01452625843,01453290820

      हटाएं
    2. AAG LAGI AAKASH MEIN JHAR JHAR GIRAT ANGAAR SANT NA HOTTE JAGAT MEIN JAL MARTA SAANSAR
      AWWAAL ALAAH NOOR UPAYA KUDRAT KE SAB BANDE EK NOOR TE SAB JAG UPJIYA KAUN BHALE KAUN MANDE

      RAMESH LALWANI 1048-23 KAMLA BAORI GANJ ,AJMER 305001
      09414005962 -0145-2623542 -0145-2625843-0145-3290820

      हटाएं

आप अपने सुझाव और मूल्यांकन से हमारा मार्गदर्शन करें