सोमवार, 30 मई 2011

चमत्कार

आज एक हास्य रचना प्रस्तुत है ..इसे मात्र निर्मल हास्य के रूप में ही लीजियेगा …आभार

एक महोदय का ये स्वाभाव था
कोई सुंदरी रहे पास ये ख्वाब था .
कल्पना की उड़ान में
हवाई उड़ान भरते हुए
विमान परिचारिकाओं को
देखा करते थे चलते हुए
और कभी अपने आफ़िस की
सुंदर स्टेनो को देखते हुए
ख्वाब में खो जाते थे
बहरहाल ज़रा संकोची थे
इसलिए मुख से
कुछ कह नही पाते थे.



इसी तरह ख्वाबों की दुनिया में
चलते - चलाते
कर बैठे एक्सिडेंट काफ़ी
बचते - बचाते .
बेहोश थे सड़क पर
चोट थी गंभीर
तमाशा देख रहे थे
कई राहगीर
किसी तरह उनको
किसी ने अस्पताल पहुँचाया



जहाँ उन्हें
काफ़ी देर बाद होश आया .
होश में आते ही जब
अपने चारों ओर नज़र दौड़ाई
स्वाभाव से मजबूर हो
कल्पना की एक उड़ान लगाई
देख रहे थे वो
एक सुंदर सी नर्स को

दिल बेज़ार था उनका
उससे कुछ कहने को
इत्तफ़ाकन वो नर्स
उनके पास आ गयी
अंजाने ही उनकी ज़ुबान
कुछ इज़हार कर गयी


बड़े बेज़ार हो कर वो बोले
काश मुझे दोबारा चोट लगे
और आपके वॉर्ड में आ सकूँ
इस तरह आपके पास रहने का
एक मौका पा सकूँ .
घूमी वो नर्स
और बोली मुस्कुरा कर
हर इच्छा पूरी
नही होती है चाह कर
दरअसल मेरे वॉर्ड में
आप जैसा कोई आ नही सकता है
मेरी ड्यूटी मेटरनिटी वॉर्ड में है
जहाँ आपको -
कोई चमत्कार ही ला सकता है .

22 टिप्‍पणियां:

  1. इनकी तो इच्छा ही अधूरी रह गयी, बहुत खूब,

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढ़िया कविता है ...!!
    बहुत खूबसूरती से आपने बेचारे मरीज़ का हाले दिल लिखा है ...!!
    आनंद आ गया .

    उत्तर देंहटाएं
  3. अब महाशय किसी चमत्कार
    का ही कर रहे होंगे इंतज़ार।

    उत्तर देंहटाएं
  4. ab to ek purush ne yah bhi kar dikhaya hai .pichhle sal akhbaron me khoob aaya hai .
    bahut majedar prastuti .

    उत्तर देंहटाएं
  5. मेटरनिटी वार्ड की नर्स ट्रामा में क्या कर रही है?
    चिकित्सा विज्ञान ने इतनी तरक्की कर ली है कि अब ये जनाब मेटरनिटी वार्ड में भी मिल सकते हैं :)

    हास्य बोध लिए सुंदर रचना के लिए आभार

    उत्तर देंहटाएं
  6. अरे वाह ! बेचारे दिलफेंक आशिक महोदय की खूब तस्वीर खींची आपने ! हा हा हा ! मजेदार रचना ! हास्य रस पर भी अधिकार से लिखा है आपने ! बधाई स्वीकार करें !

    उत्तर देंहटाएं
  7. ललित जी ,

    मेटरनिटी वार्ड की नर्स ट्रामा में अपनी सहेली दूसरी नर्स से मिलने आई थी ;):):)

    उत्तर देंहटाएं
  8. जहाँ आपको -
    कोई चमत्कार ही ला सकता है .

    हाय हाय बेचारे के अरमानो पर आपने तो तुषाराघात कर दिया।

    उत्तर देंहटाएं
  9. ये भी अच्छे मुंगेरी लाल थे हशीन सपने देखते थे

    उत्तर देंहटाएं
  10. ये इच्छा पूरी करने के लिए तो दूसरा जन्म लेना पड़ेगा हा हा हा ............

    उत्तर देंहटाएं
  11. vaah jnaab khub chmatkarik kvitaa likhi hai bechaare accident ke maare .akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  12. kya bat kahi hai, maja aa gaya. kabhi kabhi phuhar kitani bhali lagati hai.

    उत्तर देंहटाएं
  13. हा हा , अच्छा है .खुराफात भी मस्त रही . मज़ा आ गया .

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत बढिया....मजेदार हास्य कविता
    नर्स ने बढ़िया बात कही.....

    उत्तर देंहटाएं

आप अपने सुझाव और मूल्यांकन से हमारा मार्गदर्शन करें