शनिवार, 8 मई 2010

आज का विचार

आज का विचार :: प्रशंसा

लेखनी-३ चापलूसी करना सरल है , प्रशंसा करना कठिन ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

आप अपने सुझाव और मूल्यांकन से हमारा मार्गदर्शन करें