गुरुवार, 19 अगस्त 2010

तासीर नीम की

 तासीर नीम की



मैंने एक दिन
नीम के पेड़ से पूछा
कि भाई -
तुम कड़वे क्यों हो ?
उसने मेरी तरफ़
आश्चर्य से देखा
मैं उसकी ओर ही
निहार रही थी
उसके उत्तर के लिए
मैं प्रतीक्षारत थी ।
मुझे लगा कि
उसके सारे अस्तित्व में
एक व्याकुलता भर गई है ।
उसकी पत्ती - पत्ती जैसे
व्यथित हो गई है ।
आकुल हो तब वह बोला -
हाँ ! मैं कड़वा हूँ।
लेकिन तब ही तो तुम
दूसरे तत्वों में
मीठे का अहसास
कर पाते हो ।
मैं कितने रोगों की दवा हूँ
तभी तो तुम जी पाते हो ।
ज़रा तुम मेरे फूल -फल और पत्ते खाओ
और फिर तुम कहीं का भी पानी लाओ
और उसे पी कर बताओ
कि वो पानी कैसा है ?
शर्त के साथ कहता हूँ कि
वो तुमको मीठा ही लगेगा ।
तो हे मेरे प्रश्नकर्ता !
मैं ख़ुद को कड़वा रखता हूँ
लेकिन दूसरे की तासीर
मीठी कर देता हूँ।
यह सुन मैं सोचती हूँ
कि शायद सच भी
इसीलिए कड़वा होता है.

23 टिप्‍पणियां:

  1. क्या बात है जिंदगी का पूरा फलसफा समझा दिया आपने तो आज
    शानदार दर्शन सहज शब्दों में
    बहुत ही बढ़िया.

    उत्तर देंहटाएं
  2. क्या बात है जिंदगी का पूरा फलसफा समझा दिया आपने तो आज
    शानदार दर्शन सहज शब्दों में
    बहुत ही बढ़िया.

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत अच्छी पोस्ट के माध्यम से सच को पेश किया है. प्रभावशाली रचना के लिए बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  4. कडवा हमेशा बुरा ही नहीं होता -अच्छा सन्देश !

    उत्तर देंहटाएं
  5. वैज्ञानिकता से ओत-प्रोत बहुत ही उपयोगी कविता!

    उत्तर देंहटाएं
  6. एक खरे सत्य को उजागर करती आपकी रचना उतनी ही खरी है ! इतनी प्राणवान अभिव्यक्ति के लिये हार्दिक बधाई एवं अभिनन्दन !

    उत्तर देंहटाएं
  7. सुंदर प्रस्तुति!
    राष्ट्रीय व्यवहार में हिन्दी को काम में लाना देश की शीघ्र उन्नति के लिए आवश्यक है।

    उत्तर देंहटाएं
  8. अलग सी एक रचना ...शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  9. From: eg
    गिरिजेश राव जी द्वारा ई-मेल से:_

    बहुत बढ़िया। लेकिन सच का कड़वापन आदमी को झूठ की मिठास में रमा दे तो मामला गड़बड़ा जाएगा।

    उत्तर देंहटाएं
  10. बेहद सुन्दर दर्शन्…………………सारी ज़िन्दगी का सार आ गया।

    उत्तर देंहटाएं
  11. सुन्दर रचना... ज़िन्दगी के सत्व का निचोड़ दर्शाती हुई.

    उत्तर देंहटाएं
  12. कडवा सच ऐसाही होता है!....जो फायदेमंद होते हुए भी नाकारा जाता है!....सार्थक रचना!

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत ही अच्छे भाव लिए अति सुंदर रचना।

    उत्तर देंहटाएं
  14. ये सन्देश देती कविता बेहतरीन है..

    उत्तर देंहटाएं
  15. कविता के माध्यम से बहुत अच्छी बात कही गयी है, आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  16. सच है जीवन में भी तकलीफ़ों के बाद सुख का गहरा एहसास होता है ....

    उत्तर देंहटाएं

आप अपने सुझाव और मूल्यांकन से हमारा मार्गदर्शन करें